जितेंद्र और हेमा मालिनी की होने वाली थी शादी, लेकिन 1 दिन में बदल गया सब कुछ, जानिये क्या थी वजह

Mumbai 07-04-2019 Entertainment

लेवेन्द्र सिंह पप्पू भैया 

बॉलीवुड एक्टर जितेंद्र का आज 77वां जन्मदिन है। जितेंद्र का जन्म 7 अप्रैल 1942 को पंजाब के अमृतसर में हुआ था। जितेंद्र का असली नाम "रवि कपूर" है। साल 1960 से 1990 के बीच जितेंद्र काफी एक्टिव एक्टर थे। वह उस दौर के बेहतरीन डांसर माने जाते थे। साल 1959 में डायरेक्टर वी. शांताराम की फिल्म "नवरंग" में डबल रोल से उन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी।
लगभग 5 सालों तक जितेंद्र फिल्म इंडस्ट्री में अभिनेता के रूप में काम पाने के लिए संघर्षरत रहे।
1964 में उन्हें शांताराम की फिल्म "गीत गाया पत्थरों ने" में काम करने का मौका मिला। इस फिल्म के बाद जितेंद्र अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गए। 1967 में जितेंद्र की एक और सुपरहिट फिल्म फर्ज रिलीज हुई। इस फिल्म के बाद जितेन्द्र को "जम्पिंग जैक" कहा जाने लगा।
जितेंद्र के साथ हेमा मालिनी की जोड़ी को दर्शकों ने काफी पसंद किया। बता दें कि हेमा मालिनी जिन दिनों फिल्मों में आई थीं उस समय जितेंद्र सुपरस्टार समझे जाते थे। जब हर लड़की उनके साथ काम करने को उत्सुक रहती थी। उस वक्त हेमा ने जितेंद्र को ज्यादा लिफ्ट नहीं दी।
उस दौर में धर्मेंद्र और हेमा मालिनी की जोड़ी ने कई हिट फिल्में दीं जिसके बाद जितेंद्र को लगा कि अगर वह हेमा मालिनी से शादी कर लें तो वह भी धर्मेंद्र की तरह लकी हीरो बन जाएंगे। इसके लिए जितेन्द्र ने अपनी मां को हेमा की मां के पीछे लगा दिया लेकिन हेमा की मां जया चक्रवर्ती ने पूरा मामला हेमा पर ही छोड़ दिया।
यही नहीं मद्रास में दोनों परिवारों ने मुलाकात भी की। शादी की बात तय हो जाती लेकिन जितेंद्र मंगनी के तुरंत बाद शादी करना चाहते थे। उन्हें डर था कि कहीं मंगनी के बाद हेमा मालिनी का मन ना बदल जाए। हेमा मालिनी शादी की तैयार भी हो गई थीं।
तभी जितेंद्र की गर्लफ्रेंड शोभा सिप्पी अपने परिवारवालों के साथ मद्रास पहुंच गईं और उनकी शादी की बात बीच में ही अटक गई। वहीं कुछ लोग कहते हैं कि हेमा मालिनी शादी से अंतिम समय पर पीछे हट गईं। बाद में हेमा मालिनी ने धर्मेन्द्र से शादी कर ली और 1974 में जितेंद्र भी शोभा के साथ शादी के बंधन में बंध गए।

प्रादेशिक